Home Blog Page 40

कोई नहीं है फिर भी है मुझको क्या जाने किसका इंतज़ार – Koi Naheen Hai Fir Bhi

पढ़िए कोई नहीं है फिर भी है मुझको क्या जाने किसका इंतज़ार – Koi Naheen Hai Fir Bhi लिरिक्स | अधिक जानकारी गीत के बारे में:


फ़िल्म का नाम: पत्थर के सनम / Patthar Ke Sanam (1967)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर
गीत के संगीतकार है: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकार: मज़रूह सुल्तानपुरी
गीत में अदाकार है: वहीदा रहमान, मुमताज़, मनोज कुमार


कोई नहीं है फिर भी है मुझको – (2 times)
क्या जाने किसका इंतज़ार हो ओ ओ
कोई नहीं है फिर भी है मुझको
क्या जाने किसका इंतज़ार हो ओ ओ
ये भी ना जानूँ लहरा के आँचल
किसको बुलाये बार बार

सोचूँ ये हैं उंगलियां किसके प्यार की
गालों को छुये जो डाली बहार की
छुये जो डाली बहार की
सोचूँ ये हैं उंगलियां किसके प्यार की
कौन है ऐ हवा ऐ बहार

कोई नहीं है फिर भी है मुझको
क्या जाने किसका इंतज़ार – (2 times)

पानी में छबी मैं देखूँ खड़ी खड़ी
बालों में सजा के कलियाँ बड़ी बड़ी
सजा के कलियाँ बड़ी बड़ी
पानी में छबी मैं देखूँ खड़ी खड़ी
फिर बनूँ आप ही बेकरार

कोई नहीं है फिर भी है मुझको
क्या जाने किसका इंतज़ार – (2 times)

वादी में निशान मेरे ही पाँव के
फूलों पे हैं रंग मेरी ही छाँव के
हैं रंग मेरी ही छाँव के
वादी में निशान मेरे ही पाँव के
फिर भी क्यूँ आये ना ऐतबार

कोई नहीं है फिर भी है मुझको
क्या जाने किसका इंतज़ार हो ओ ओ
ये भी ना जानूँ लहरा के आँचल
किसको बुलाये बार बार
क्या जाने किसका इंतज़ार – (2 times)



[message] Leave Your Rating:1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...[/message]
Hope you liked the lyrics. Why not share it!



Found any mistakes in the [mark color=”yellow”]कोई नहीं है फिर भी है मुझको क्या जाने किसका इंतज़ार – Koi Naheen Hai Fir Bhi[/mark]? Please mention the mistake in comments so we can better the quality of lyrics.
You are a rockstar! Thanks.

कुछ कहता है ये सावन – Kuch Kehta Hai Ye Sawan (Lata, Rafi, Mera Gaon Mera Desh)

पढ़िए कुछ कहता है ये सावन – Kuch Kehta Hai Ye Sawan (Lata, Rafi, Mera Gaon Mera Desh) लिरिक्स | अधिक जानकारी गीत के बारे में:

फ़िल्म का नाम: मेरा गाँव मेरा देश (1971)
गीत के संगीत कार है: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
गीत के गीतकार है: आनंद बक्षी
इस गीत को गया है: लता मंगेशकर, मो.रफ़ी

कुछ कहता है ये सावन
क्या कहता है
शाम-सवेरे दिल में मेरे
तू रहता है, तू रहता है
कुछ कहते है ये बदली
क्या कहती है
शाम-सवेरे दिल में मेरे
तू रहती है, तू रहती है
रिमझिम गाता है पानी
क्यूँ गाता है
प्रीत में साजन, गीत ये जीवन
बन जाता है, बन जाता है

फिर आई पुरवाई
क्यूँ आयी है
सजनी तेरा प्रेम संदेसा ये लाई है
भीगी-भीगी रातों में
क्या होता है
नींद न हाय, हमको हाय
जग सोता है, जग सोता है

खिलती है कब कलियाँ
कब खिलती हैं
तेरी अँखियाँ, मेरी अँखियाँ जब मिलती हैं
छम-छम बजती है पायल
कब बजती है
प्रेम के पथ पर, रूप को ठोकर
जब लगती है, जब लगती है

धक-धक करता है ये दिल
क्यूँ करता है
लोग न सुन लें, प्यार की बातें
मन डरता है
अरे जाते हैं परदेसी
क्यूँ जाते हैं
दूर अकेले, देस के मेले
याद आते हैं, याद आते हैं
झर-झर बहता है झरना
क्यूँ बहता है
आई जवानी, रुत मस्तानी
ये कहता है, ये कहता है
कुछ कहता है ये सावन…



[message] Leave Your Rating:1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...[/message]
Hope you liked the lyrics. Why not share it!



Found any mistakes in the [mark color=”yellow”]कुछ कहता है ये सावन – Kuch Kehta Hai Ye Sawan (Lata, Rafi, Mera Gaon Mera Desh)[/mark]? Please mention the mistake in comments so we can better the quality of lyrics.
You are a rockstar! Thanks.

महबूब मेरे तू है तो दुनिया कितनी हसीं है – Mehboob Mere Tu Hai To Duniya

पढ़िए महबूब मेरे तू है तो दुनिया कितनी हसीं है – Mehboob Mere Tu Hai To Duniya लिरिक्स | अधिक जानकारी गीत के बारे में:


फ़िल्म का नाम: पत्थर के सनम / Patthar Ke Sanam (1967)
गायक/गायिका: लता मंगेशकर, मुकेश
गीत के संगीतकार है: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकार: मज़रूह सुल्तानपुरी
गीत में अदाकार है: वहीदा रहमान, मुमताज़, मनोज कुमार


महबूब मेरे महबूब मेरे – (2 times)
तू है तो दुनिया कितनी हसीं है
जो तू नहीं तो कुछ भी नहीं है
महबूब मेरे महबूब मेरे
तू है तो दुनिया कितनी हसीं है
जो तू नहीं तो कुछ भी नहीं है
महबूब मेरे…

तू हो तो बढ़ जाती है क़ीमत मौसम की
ये जो तेरी आँखें हैं शोला शबनम सी
यहीं मरना भी है मुझको मुझे जीना भी यहीं है
महबूब मेरे…

अरमाँ किसको जन्नत की रंगीं गलियों का
मुझको तेरा दामन है बिस्तर कलियों का
जहाँ पर हैं तेरी बाँहें मेरी जन्नत भी वहीं है
महबूब मेरे…

रख दे मुझको तू अपना दीवाना कर के
नज़दीक आजा फिर देखूँ तुझको जी भर के
मेरे जैसे होंगे लाखों कोई भी तुझसा नहीं है
महबूब मेरे…
हो महबूब मेरे…
महबूब मेरे…



[message] Leave Your Rating:1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...[/message]
Hope you liked the lyrics. Why not share it!



Found any mistakes in the [mark color=”yellow”]महबूब मेरे तू है तो दुनिया कितनी हसीं है – Mehboob Mere Tu Hai To Duniya[/mark]? Please mention the mistake in comments so we can better the quality of lyrics.
You are a rockstar! Thanks.

ज़िन्दगी ख्वाब है – Zindagi Khwaab Hai (Mukesh, Jagte Raho)

पढ़िए ज़िन्दगी ख्वाब है – Zindagi Khwaab Hai (Mukesh, Jagte Raho) लिरिक्स | अधिक जानकारी गीत के बारे में:

फ़िल्म का नाम: जागते रहो (1956)
गीत के संगीत कार है: सलिल चौधरी
गीत के गीतकार है: शैलेन्द्र
इस गीत को गया है: मुकेश

ज़िन्दगी ख्वाब है
ख्वाब में झूठ क्या
और भला सच है क्या
सब सच है

दिल ने हमसे जो कहा, हमने वैसा ही किया
फिर कभी फुरसत से सोचेंगे, बुरा था या भला
ज़िन्दगी ख्वाब है…

एक कतरा मय का जब, पत्थर के होठों पर पड़ा
उसके सीने में भी दिल धड़का, ये उसने भी कहा, क्या
ज़िन्दगी ख्वाब है…

एक प्याली भर के मैंने, गम के मारे दिल को दी
ज़हर ने मारा ज़हर को, मुर्दे में फिर जान आ गयी
ज़िन्दगी ख्वाब है…



[message] Leave Your Rating:1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...[/message]
Hope you liked the lyrics. Why not share it!



Found any mistakes in the [mark color=”yellow”]ज़िन्दगी ख्वाब है – Zindagi Khwaab Hai (Mukesh, Jagte Raho)[/mark]? Please mention the mistake in comments so we can better the quality of lyrics.
You are a rockstar! Thanks.

पत्थर के सनम तुझे हमने मुहब्बत का ख़ुदा जाना – Patthar Ke Sanam Tujhe Hamne

पढ़िए पत्थर के सनम तुझे हमने मुहब्बत का ख़ुदा जाना – Patthar Ke Sanam Tujhe Hamne लिरिक्स | अधिक जानकारी गीत के बारे में:


फ़िल्म का नाम: पत्थर के सनम / Patthar Ke Sanam (1967)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी
गीत के संगीतकार है: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकार: मज़रूह सुल्तानपुरी
गीत में अदाकार है: वहीदा रहमान, मुमताज़, मनोज कुमार


पत्थर के सनम, तुझे हमने, मुहब्बत का ख़ुदा जाना
बड़ी भूल हुई, अरे हमने, ये क्या समझा ये क्या जाना

चेहरा तेरा दिल में लिये, चलते चले अंगारों पे
तू हो कहीं, सजदे किये हमने तेरे रुख़सारों पे
हम सा न हो, कोई दीवाना, पत्थर के…

सोचा न था बढ़ जाएंगी, तनहाइयां जब रातों की
रस्ता हमें दिखलाएंगी, शमा-ए-वफ़ा इन आँखों की
ठोकर लगी, फिर पहचाना, पत्थर के…

ऐ काश के होती ख़बर तूने किसे ठुकराया है
शीशा नहीं, सागर नहीं, मंदिर-सा इक दिल ढाया है
सारा आसमान, है वीराना, पत्थर के…



[message] Leave Your Rating:1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...[/message]
Hope you liked the lyrics. Why not share it!



Found any mistakes in the [mark color=”yellow”]पत्थर के सनम तुझे हमने मुहब्बत का ख़ुदा जाना – Patthar Ke Sanam Tujhe Hamne[/mark]? Please mention the mistake in comments so we can better the quality of lyrics.
You are a rockstar! Thanks.

ऐ मेरे दिल कहीं और चल – Ae Mere Dil Kahin Aur Chal (Talat, Lata, Daag)

पढ़िए ऐ मेरे दिल कहीं और चल – Ae Mere Dil Kahin Aur Chal (Talat, Lata, Daag) लिरिक्स | अधिक जानकारी गीत के बारे में:

फ़िल्म का नाम: दाग (1952)
गीत के संगीत कार है: शंकर-जयकिशन
गीत के गीतकार है: शैलेन्द्र
इस गीत को गया है: तलत महमूद, लता मंगेशकर

ऐ मेरे दिल कहीं और चल
ग़म की दुनिया से दिल भर गया
ढूंढ ले अब कोई घर नया
ऐ मेरे दिल कहीं…

चल जहाँ गम के मारे न हों
झूठी आशा के तारे न हों
इन बहारों से क्या फ़ायदा
जिसमें दिल की कलि जल गई
ज़ख़्म फिर से हरा हो गया
ऐ मेरे दिल कहीं…

चार आँसू कोई रो दिया
फेर के मुँह कोई चल दिया
लुट रहा था किसी का जहां
देखती रह गई ये ज़मीं
चुप रहा बेरहम आसमां
ऐ मेरे दिल कहीं…



[message] Leave Your Rating:1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...[/message]
Hope you liked the lyrics. Why not share it!



Found any mistakes in the [mark color=”yellow”]ऐ मेरे दिल कहीं और चल – Ae Mere Dil Kahin Aur Chal (Talat, Lata, Daag)[/mark]? Please mention the mistake in comments so we can better the quality of lyrics.
You are a rockstar! Thanks.

चोरी-चोरी सोलह श्रृंगार – Chori-Chori Solah Shringar (Asha Bhosle, Manoranjan)

पढ़िए चोरी-चोरी सोलह श्रृंगार – Chori-Chori Solah Shringar (Asha Bhosle, Manoranjan) लिरिक्स | अधिक जानकारी गीत के बारे में:

फ़िल्म का नाम: मनोरंजन (1974)
गीत के गीत के संगीतकार है है: आर.डी.बर्मन
गीत के गीतकार है: आनंद बक्षी
इस गीत को गया है: आशा भोंसलेचोरी-चोरी सोलह श्रृंगार करुँगी
आज सारी रात इंतज़ार करुँगी
सोए हैं मेरे पिहरवा
चोरी-चोरी सोलह श्रृंगार…

लिपटे बदन से, शोले अगन के
तेरी लगन के, खेलो न मन से मेरे
कह दूँगी मैं ये सजन से
ना जी ना, हाँ हाँ जी हाँ
एक ये गिला सौ बार करुँगी
आज सारी रात…

नैनों के रस्ते, चुपके से आ के
सपनो में जा के, पायल बजा के छम से
रख दूँगी उनको जगा के
ना जी ना, हाँ हाँ जी हाँ
प्यार किया है मैंने, प्यार करुँगी
आज सारी रात…

[message] Leave Your Rating:1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...[/message]
Hope you liked the lyrics. Why not share it!

Found any mistakes in the [mark color=”yellow”]चोरी-चोरी सोलह श्रृंगार – Chori-Chori Solah Shringar (Asha Bhosle, Manoranjan)[/mark]? Please mention the mistake in comments so we can better the quality of lyrics.
You are a rockstar! Thanks.

ओ दीवानों दिल संभालो – O Deewanon Dil Sambhalo (Asha Bhosle, The Great Gambler)

पढ़िए ओ दीवानों दिल संभालो – O Deewanon Dil Sambhalo (Asha Bhosle, The Great Gambler) लिरिक्स | अधिक जानकारी गीत के बारे में:

फ़िल्म का नाम: द ग्रेट गैम्बलर (1979)
गीत के गीत के संगीतकार है है: आर.डी.बर्मन
गीत के गीतकार है: आनंद बक्षी
इस गीत को गया है: आशा भोंसले

 

ओ दिल दीवानों दिल संभालो
दिल चुराने आई हूँ मैं
तुम न मानो
आग पानी में लगाने आई हूँ मैं
नरगिसी आँखों से, शबनमी गालों से, रेश्मी बालों से
ओ दीवानों दिल संभालो…

पास आते बड़े ही खूबसूरत बहानों से
मैं करूँगी यूँ ही दो-चार बातें दीवानों से
और शर्माऊँगी, लूट ले जाऊँगी, फिर नहीं आऊँगी
दिल चुराने आई हूँ मैं
ओ दीवानों दिल संभालो…

देख लेना अभी जादू चलेगा निगाहों का
दिल्लगी में खबर तुमको न होगी मोहब्बत क्या
बातों ही बातों में, इन मुलाकातों में, इन हसीं रातों में
तुम न मानो
आग पानी में लगाने आई हूँ मैं…

[message] Leave Your Rating:1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...[/message]
Hope you liked the lyrics. Why not share it!

Found any mistakes in the [mark color=”yellow”]ओ दीवानों दिल संभालो – O Deewanon Dil Sambhalo (Asha Bhosle, The Great Gambler)[/mark]? Please mention the mistake in comments so we can better the quality of lyrics.
You are a rockstar! Thanks.

तौबा ये मतवाली चाल, झुक जाए फूलों की डाल – Tauba Ye Matwali Chaal

पढ़िए तौबा ये मतवाली चाल, झुक जाए फूलों की डाल – Tauba Ye Matwali Chaal लिरिक्स | अधिक जानकारी गीत के बारे में:


फ़िल्म का नाम: पत्थर के सनम / Patthar Ke Sanam (1967)
गायक/गायिका: मुकेश
गीत के संगीतकार है: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकार: मज़रूह सुल्तानपुरी
गीत में अदाकार है: मुमताज़, मनोज कुमार


तौबा ये मतवाली चाल, झुक जाए फूलों की डाल
चाँद और सूरज आकर माँगें, तुझसे रँग-ए-जमाल
हसीना! तेरी मिसाल कहाँ

सितम ये अदाओं की रानाइयाँ हैं
कयामत है क्या तेरी अँगड़ाइयाँ हैं
बहार-ए-चमन हो, घटा हो धनक हो
ये सब तेरी सूरत की परछैयाँ हैं
के तन से, उड़ता गुलाल कहाँ

हूँ मैं भी दीवानों का इक शहज़ादा
तुझे देखकर, हो गया कुछ ज़्यादा
ख़ुदा के लिए मत बुरा मान जाना
ये लब छू लिये हैं, यूँ ही बे-इरादा
नशे में इतना ख़याल कहाँ

यही दिल में है तेरे नज़दीक आ के
मिलूँ तेरे पलकों पे पलके झुका के
जो तुझ सा हसीं सामने हो तो कैसे
चला जाऊँ पहलू में दिल को दबा के
कि मेरी इतनी मजाल कहाँ



[message] Leave Your Rating:1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...[/message]
Hope you liked the lyrics. Why not share it!



Found any mistakes in the [mark color=”yellow”]तौबा ये मतवाली चाल, झुक जाए फूलों की डाल – Tauba Ye Matwali Chaal[/mark]? Please mention the mistake in comments so we can better the quality of lyrics.
You are a rockstar! Thanks.

रंग और नूर हिंदी लिरिक्स by Gazal | Md Rafi

रंग और नूर हिंदी लिरिक्स by Gazal | Md Rafi

 

रंग और नूर हिंदी लिरिक्स गाया है Md Rafi  ने  जिसके गीतकार है Sahir Ludhianvi और संगीतकार है Madan Mohan.

Additional Information

Movie Title: Gazal (1964)

Singers: Md Rafi

Lyricist(s): Sahir Ludhianvi

Music By: Madan Mohan

LYRICS OF RANG AUR NOOR KI BARAT IN HINDI

[रंग और नूर की बारात किसे पेश करूँ
ये मुरादों की हंसी रात किसे पेश करूँ
किसे पेश करूँ ] x २

मैंने जज़बात निभाए हैं उसूलों की जगह
मैंने जज़बात निभाए हैं उसूलों की जगह
अपने अरमान पीरों लाया हूँ फूलों की जगह
तेरे सेहरे की..
तेरे सेहरे की ये सौगात किसे पेश करूँ
ये मुरादों की हंसी रात किसे पेश करूँ
किसे पेश करूँ

ये मेरे शेर मेरे आखरी नजराने हैं
ये मेरे शेर मेरे आखरी नजराने हैं
मैं उन अपनों में हूँ जो आज से बेगाने हैं
बेताल्लुक सी मुलाक़ात किसे पेश करूँ
ये मुरादों की हंसी रात किसे पेश करूँ
किसे पेश करूँ

 

सुर्ख जोड़े की तब-ओ-ताब मुबारक हो तुझे
सुर्ख जोड़े की तब-ओ-ताब मुबारक हो तुझे
तेरी आँखों का नया ख्वाब मुबारक हो तुझे
मैं ये ख्वाइश, ये ख़यालात किसे पेश करूँ
ये मुरादों की हंसी रात किसे पेश करूँ
किसे पेश करूँ

 

कौन कहता है के चाहत पे सभी का हक है
कौन कहता है के चाहत पे सभी का हक है
तू जिसे चाहे तेरा प्यार उसी का हक है
मुझ से कह दे..
मुझ से कह दे, मैं तेरा हाथ किसे पेश करूँ
ये मुरादों की हंसी रात किसे पेश करूँ
किसे पेश करूँ

 

रंग और नूर की बारात किसे पेश करूँ
ये मुरादों की हंसी रात किसे पेश करूँ
किसे पेश करूँ
[किसे पेश करूँ..किसे पेश करूँ.. ] x ३

Here is the song video:



[message] Leave Your Rating:1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...[/message]
Hope you liked the lyrics. Why not share it!



Found any mistakes in the [mark color=”yellow”]रंग और नूर हिंदी लिरिक्स by Gazal | Md Rafi[/mark]? Please mention the mistake in comments so we can better the quality of lyrics.
You are a rockstar! Thanks.