मेरो गाम काठा पारे – Mero Gaam Kaatha Paare (Preeti Sagar, Manthan)

पढ़िए मेरो गाम काठा पारे – Mero Gaam Kaatha Paare (Preeti Sagar, Manthan) लिरिक्स | अधिक जानकारी गीत के बारे में:

फ़िल्म का नाम: मंथन (1976)
गीत के संगीत कार है: वनराज भाटिया
गीत के गीतकार है: नीति सागर
इस गीत को गया है: प्रीती सागर

मेरो गाम काठा पारे
जहाँ दूध की नदियाँ बाहे
जहाँ कोयल कू कू गाये
म्हारे घर अंगना न भूलो ना

म्हारे गामड़ नीला लेर
जहाँ नाचे मोर नडेल
जहाँ दूध की रेलम छेल
जहाँ वड़ती पल्ली छैय्याँ
माँ सुत्ती जाती गैय्याँ
आवो रे
आओ-आओ म्हारे गाम
सबसे प्यारो म्हारो धाम
याद रखियो मेरो श्याम
म्हारे घर अंगना न भूलो ना
कभी रुकना म्हारे गाम
ओ परदेसिया



[message] Leave Your Rating:1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)

Loading...[/message]
Hope you liked the lyrics. Why not share it!


Found any mistakes in the [mark color=”yellow”]मेरो गाम काठा पारे – Mero Gaam Kaatha Paare (Preeti Sagar, Manthan)[/mark]? Please mention the mistake in comments so we can better the quality of lyrics.
You are a rockstar! Thanks.

Loading Facebook Comments ...